blogid : 542 postid : 674789

सूचना - ब्लॉगिंग शिखर सम्मान स्थगन

Posted On: 23 Dec, 2013 Contest में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

प्रिय पाठक,


खेद के साथ सूचित करना पड़ रहा है कि 26 अक्टूबर से 31 दिसंबर 2013 के बीच चलने वाली ‘ब्लॉगिंग शिखर सम्मान’ प्रतियोगिता तत्काल प्रभाव से रद्द की जा रही है।


पाठक वर्ग अवश्य हमारे इस निर्णय का कारण जानना चाहेंगे। किंचित यह हमारे लिए भी खेद की बात है किंतु मंच को यह लगता है कि यह प्रतियोगिता जिस उद्देश्य से शुरू की गई थी वह पूरी नहीं हो पा रही है। ‘ब्लॉगिंग शिखर सम्मान’ प्रतियोगिता का उद्देश्य मंच के सभी पाठकों को निर्णायक बनने का एक मौका देकर उन्हीं के द्वारा, उन्हीं के बीच से सर्वश्रेष्ठ का चयन करना था। किंतु बहुत कम संख्या में प्राप्त प्रतिक्रिया से ऐसा लगता है कि पाठकों को इसमें रुचि नहीं है। प्रतियोगिता की अवधि समाप्त होने को है लेकिन इस पर अब तक कुछ गिनी-चुनी प्रतिक्रिया आलेख ही आए हैं। इस प्रतियोगिता के स्वभाव के अनुरूप एक निष्पक्ष प्रतियोगिता के लिए बड़ी संख्या में पाठक वर्ग की संलिप्तता आवश्यक है अन्यथा इसका चुनाव निरर्थक है। इसलिए तत्काल प्रभाव से यह प्रतियोगिता आज, 23 दिसंबर 2013 से समाप्त की जाती है।


धन्यवाद

जागरण जंक्शन परिवार



Tags:             

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (2 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

7 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

डॉ० कुमारेन्द्र सिंह सेंगर के द्वारा
December 25, 2013

नमस्कार ये वाकई कठिन स्थिति होती है मगर इसमें सबसे बाधक तत्त्व ये था कि ब्लॉगर्स किस दस का चयन कर लेते और वो भी सार्वजनिक रूप से. आपकी टीम को पिछली बार एक सुझाव दिया था कि आप इस प्रतियोगिता में बजाय पोस्ट को सार्वजानिक रूप से प्रकाशित करने के उसे अपनी ई-मेल पर मंगवा लीजिये. इससे किसी भी ब्लोगेर के सामने असहज स्थिति नहीं होती और आपको अपेक्षित परिणाम मिल जाते. आशा है आप इस प्रतियोगिता को कुछ बदलाव के साथ दोबारा लायेंगे. आभार सहित

Santlal Karun के द्वारा
December 24, 2013

सम्पादक श्री जागरण जंक्शन मान्यवर, मैंने ‘ब्लॉगिंग शिखर सम्मान’ प्रतियोगिता के लिए श्रमपूर्वक सामग्री तैयार की थी, किन्तु उसे अंतिम रूप देने के पहले अत्यावश्यक कार्य के कारण काफी लम्बे समय के लिए कार्य-स्थल से बाहर रहना पड़ा और प्रविष्टि पोस्ट न की जा सकी | इधर सोचा कि दिसंबर बीतने को है, तो सामग्री अंतिम रूप से तैयार कर लें और लगकर उसे तैयार भी किया | पर आज प्रतियोगिता से सम्बंधित आप द्वारा स्थगन की यह सूचना देखी | अब बताइए उस सामग्री का क्या करें ? … रात भर सोहर सुबह लड़के के ‘वही’ नहीं वाली स्थिति हो गई !

रामरक्षा मिश्र विमल के द्वारा
December 24, 2013

मुझे लगता है कि और समय बढ़ाने का लाभ मिल सकता है क्योंकि हिंदी में पढ़ना जितना सहज है उतना लिखना नहीं | पाठकों के निर्णयों पर गौर करने के बाद आपको निर्णय लेने में अवश्य सुविधा होगी | यहाँ दो प्रतियोगिताएँ समानांतर होंगी- रचनाकारों की और पाठकों की | यह असाधारण प्रयोग है | रामरक्षा मिश्र विमल

sachin pandey के द्वारा
December 24, 2013

किसी भी काम को बीच में बंद करना ठीक बात नहीं है आप को इसके विस्तार के विषय में और गम्भीर होकर विचार करना होगा तथा कुछ ऐसे प्रयास करने होंगे जिससे आम लोगों मी जो उत्साह है वो बना रहे और नित नै विचार लोगों के समक्ष आते रहे और समाज में वैचारिक उन्न्ति होती रहे .

Acharya Vijay Gunjan के द्वारा
December 23, 2013

आदरणीय मान्यवर , सादर अभिवादन ! निहायत ही यह चिंतनीय विषय है , आप की चिंता बिलकुल जायज है | हो सकता है …. ” को बड़ छोट कहत अपराधु ” के भय से लोग इस प्रतियोगिता में अपनी सम्मति देने में किंकर्तव्यविमूढ़ रहे हों | मेरी मानें तो जिस ‘ नीर-क्षीर ‘ विवेक से आप प्रति सप्ताह ‘ बेस्ट ब्लॉगर ऑफ द वीक ‘ का चयन करते हैं , वही मार्ग आप ऐसे सम्मानों के लिए भी अपनाएं ! यह मेरी बिलकुल निजी राय है | वैसे आप की मर्जी | सादर !

    jlsingh के द्वारा
    December 24, 2013

    सहमत! यह चयन जागरण जंक्सन मंच को स्वयं करना चाहिए!


topic of the week



latest from jagran